Himachalis News

हिमाचल का एक आईएएस इस वजह से बटोर रहा वाहवाही

जब हम आईएएस या डीसी शब्द सुनते हैं तो हमारे दिमाग में क्या आता है? किसी जिले का सबसे बड़ा प्रशासनिक अधिकारी बोले तो जिले का कर्ता-धर्ता. अब किसी डीसी की क्या ताकत हो सकती है इसका अंदाज़ा लगाया जा सकता है.

लेकिन एक आईएएस अधिकारी ऐसा भी है जो हर हफ्ते फल और सब्ज़ी लाने के लिए 10 किलोमीटर पैदल चलता है. ये हैं मेघालय के आईएएस अधिकारी राम सिंह जोकि वेस्ट गारो हिल्स जिले के उपायुक्त हैं. सोशल मीडिया पर यह खबर आने के बाद राम सिंह लोगों के हीरो बन गए और सब्ज़ी का किल्टा उठाये उनकी कई फोटो वायरल हो गए.

एक उपायुक्त की सुख सुविधा के लिए सरकार ने कई कर्मचारी तैनात किये होते हैं. फिर राम सिंह को फल सब्ज़ियों के लिए 10 किलोमीटर चलने की आवश्यकता क्यों पड़ी?

जवाब बहुत ही खूबसूरत और प्रेरणादायक है. राम सिंह ने फेसबुक पर खरीददारी करते हुए एक फोटो शेयर किया और लिखा

“21kgs of weekend organic Vegetables shopping, No plastic, no vehicular pollution, no traffic jam, Fit India, Fit Meghalaya, Eat Organic, Clean & Green Tura , POSHAN , 10km morning walk..”

अपनी इस पोस्ट के साथ राम सिंह ने देश को कई सन्देश दे डेल. एक तो खाने के लिए आर्गेनिक फल सब्ज़ियों का उपयोग करना और वो भी वहां के लोकल खेतों से जिससे की वहां के किसानों की इकॉनमी भी बढे. और इसके लिए गाड़ी का उपयोग न करके प्रदुषण और ट्रैफिक जाम जैसी समस्याओं को काम किया जा सकता है. खुद हर हफ्ते 10 किमी पैदल चलकर राम सिंह फिट इंडिया फिट मेघालय का सन्देश देते हुए औरों को भी प्रेरित कर रहे हैं.

एक और खास बात यह है की राम सिंह सब्ज़ी उठाने के लिए प्लास्टिक का नहीं बल्कि बांस से बने किल्टे का उपयोग करते हैं. प्रेरणा तब ज़यादा असर करती है जब प्रेरणा देने वाला खुद उसका अनुसरण करे. उम्मीद है कि कई लोग राम सिंह जी के पद चिन्हों पर चलने की कोशिश करेंगे और स्वच्छ भारत और फिट फिट इंडिया बनाने के लिए काम करेंगे

2008 बैच के आईएएस अधिकारी राम सिंह हिमाचल के लाहौल स्पीति जिले के जाहलमा गाँव से सम्बन्ध रखते हैं. इन्होने जमा दो तक की पढाई जाहलमा के सरकारी स्कूल से की. इसके बाद इंजीनियरिंग करके मर्चेंट नेवी में कुछ समय के लिए नौकरी की. 2008 की सिविल सेवा परीक्षा में राम सिंह 72वीं रैंक पायी थी. अपने इस काम से राम सिंह हिमाचल प्रदेश का नाम भी रोशन कर रहे हैं.

Spread the love
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *